Home » सत्ता के गलियारों से

सुष्मिता देव द्वारा सैनिटरी पैड को करमुक्त बनाने की याचिका को भारी समर्थन

Share 0 Link
सुष्मिता देव द्वारा सैनिटरी पैड को करमुक्त बनाने की याचिका को भारी समर्थन
कांग्रेस पार्टी की सांसद सुष्मिता देव ने 25 फरवरी को वित्त मंत्री अरुण जेटली को एक पत्र लिखा था, जिसमें सैनिटरी पैड पर कर हटाने के लिए अनुरोध किया गया था। सुष्मिता देव द्वारा शुरू की याचिका संसद के कई सदस्यों का समर्थन मिला है।

उन्होंने इस सामाजिक परिवर्तन के लिए ऑनलाइन मंच पर भी एक याचिका शुरू की है। चेंज डॉट ऑर्ग पर शुरू की गई इस याचिका में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च) के अवसर पर लोगों से इस पर समर्थन मांगा गया है। चेंज डॉट ऑर्ग द्वारा शनिवार को जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक, इस वेबसाइट पर शुरू हुई याचिका को देश भर से 2,04,518 लोगों ने समर्थन दिया है।

सुष्मिता देव की इस याचिका को बड़े पैमाने पर सार्वजनिक समर्थन के अलावा पार्टी लाइन से ऊपर उठकर कई सांसदों का भी समर्थन मिला है। सांसदों ने ट्विटर पर इस याचिका का समर्थन करने के साथ ही देव को पत्र भेजकर भी अपना समर्थन दिया है। भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी ने इस याचिका को ट्विटर पर एक 'महान पहल' करार दिया और इस पर अपने फॉलोअर्स का समर्थन मांगा।

उनके सुझाव ट्वीट में, बीजू जनता दल (बीजेडी) के सांसद बैजयंत पांडा ने गर्भ निरोधकों के कर मुक्त होने जबकि सैनिटरी पैड के नहीं होने का सवाल उठाया तथा याचिका पर अधिक समर्थन की मांग की। सैनिटरी उत्पादों पर अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग कर लगाए जाते हैं, जो आमतौर पर 12 से 14 फीसदी के बीच होते हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली को संबोधित देव की याचिका को महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी और स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने भी समर्थन दिया है और कहा कि जीएसटी विधेयक में सैनिटरी पैड पर करों को खत्म कर दिया जाना चाहिए।

महिला दिवस पर किए गए एक ट्वीट में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था, 'इस महिला दिवस पर करोड़ों महिलाओं के जीवन को बदलने के लिए एक कदम उठाएं। मैंने इस याचिका पर हस्ताक्षर किए हैं और आपको भी करना चाहिए, क्योंकि भारतीय महिलाएं बेहतर की हकदार हैं।'

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने अरुण जेटली को 22 मार्च को एक पत्र लिख कर देव के अनुरोध पर गौर करने का आग्रह किया। कांग्रेसी सांसद सुप्रिया सुले ने अपने समर्थन में कहा, 'हम भारत सरकार से सैनिटरी नैपकिन पर कर को कम करने/समाप्त करने की अपील करते हैं।'

  •  Ruchir Sharma | Quint Hindi
    Ruchir Sharma | Quint Hindi
  • Shushmita DevAt the India Today Women's Summit
    Shushmita DevAt the India Today Women's Summit