Home » सत्ता के गलियारों से

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भ्रष्टाचार विश्लेषण: नजराना, सुकराना, हकराना और जबराना:

Share 0 Link
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भ्रष्टाचार विश्लेषण: नजराना, सुकराना, हकराना और जबराना:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा यूपी में हर चीज का रेट तय है. यहां भ्रष्टाचार दीमक की तरह घुस गया है.  पिछले 13 साल में यूपी में चार तरह के भ्रष्टाचार फले फूले हैं- नजराना, सुकराना, हकराना और जबराना.

नजराना मतलब काम कराने के पहले

 सुकराना- काम होने के बाद

हकराना- फाइल भी आगे नहीं बढ़ेगी 

जबराना- काम भी नहीं, करना भी नहीं

मोदी ने कहा, 'यूपी में लेने वालों की आदत हो गई है, देने वाले मजबूर हो गए हैं. आपके पास मुक्ति का एक ही प्रकार है, वो है हराना.'

प्रधामनंत्री ने दावे के साथ कहा कि उत्तर प्रदेश चुनाव में जनता ने ऐसा तार बिछाकर रखा है, जिससे सपा, बसपा और कांग्रेस तीनों को 11 मार्च के बाद करंट लगने वाला है.

  •  Ruchir Sharma | Quint Hindi
    Ruchir Sharma | Quint Hindi
  • Shushmita DevAt the India Today Women's Summit
    Shushmita DevAt the India Today Women's Summit